Spread the love

आष्टा । आष्टा जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत भंवरा के दबंग पंचायत सचिव के कारनामो का जो उजागर पन सामने आया उससे लगता है कि अभी जो सामने आया है वो तो भ्रष्टाचार की मात्र एक बानगी बताई जा रही है ।

इस जनपद में आती है ये पंचायत..!

अगर इस पंचायत सचिव विनोद वर्मा के कार्यकाल की किसी निष्पक्ष जांच एजेंसी या किसी जांच टीम से जांच कराई जाये तो हो सकता है ये सचिव जिसका नाम विनोद वर्मा बताया गया है, जहां जहां रहा है वहा वहां कुछ बड़ा उजागर हो सकता है ।

क्या भंवरा पंचायत में भ्रष्टाचार का इतिहास तो नही लिखा.?

आज इनके भ्रष्टाचार की श्रृंखला में शुरुआत करते है देवास लोकसभा के तेजतर्राट ईमानदार सांसद श्री महेंद्रसिंह सोलंकी द्वारा ग्राम पंचायत भंवरा को यहा के प्रसिद्ध ईलाही माता मंदिर में आने वाले भक्तों,श्रद्धालुओं को बैठने कार्यक्रम आयोजित करने आदि के लिये अपनी सांसद निधि में से मंदिर परिसर के पास टीन शेड निर्माण के लिये एक कार्यक्रम के दौरान करीब 2 वर्ष पूर्व घोषणा की थी।

सांसद द्वारा की गई स्वीकृत राशि का स्वीकृति पत्र

घोषणा के तहत उन्होंने प्रथम चरण के तहत 10 लाख की राशि स्वीकृति का एक पत्र भी जारी किया और 5 लाख की राशि प्रथम क़िस्त के रूप में ग्राम पंचायत को जारी भी की गई।

मातारानी के इन भक्तों के लिए बनना है टीन शेड

देवास सांसद ने ग्रामीणों की मांग एवं मातारानी के मंदिर में आने वाले भक्तों को एक बड़ी सुविधा के लिये जिस कार्य के लिये राशि स्वीकृत की, 2 साल बाद भी उक्त कार्य शुरू ही नही हुआ,यह तो एक जांच का विषय है इससे भी बड़ा जांच का विषय इस कार्य के लिये देवास सांसद महेंद्रसिंह सोलंकी ने जो राशि 5 लाख की जारी की थी,जो पंचायत के खाते में भी पहुच चुकी उस राशि में से बिना कार्य के ही उसमे से हजारों की राशि ग्राम पंचायत द्वारा निकाल ली गई ।

इस स्थान पर बनना था टीन शेड,जो आज भी खाली है

जब कार्य ही नही हुआ तो निर्माण के नाम पर इतनी बड़ी राशि किसने,क्यो,कैसे निकाल ली.! इसका जवाब कोई देने को तैयार नही,जांच और कार्यवाही हो तो ही जवाब आयेगा ओर जो खेला किया उसकी पोल खुल सकेगी। मदमस्त पंचायत सचिव विनोद वर्मा की इतनी दबंगाई की उसने बिना कार्य किये ही,सांसद निधि की राशि निकाल ली ये निकाली राशि आखिर किसकी जेब गर्म कर रही है इसका खुलासा जांच में ही खुल सकता है।

जब मामला उजागर हुआ तब जनपद ने जारी किया पत्र

जब ग्रामीणों ने इसकी शिकायत देवास सांसद महेंद्रसिंह सोलंकी,विधायक गोपालसिंह इंजीनियर तक ये बात पहुची तब विधायक ने जनपद के सीईओ को इस मामले को तत्काल संज्ञान में ले कर कार्यवाही के निर्देश दिये। बन्द मुठ्ठी खुलने पर जनपद सीईओ ने ग्राम पंचायत सरपंच/सचिव को जनवरी 2024 में एक नोटिश जारी किया है।

सांसद के पास शिकायत पहुचते ही जैसे ही यहा मामला अधिकारियों तक पहुचा तो दो साल से इस मामले में मुह में दही जमा कर बैठे जिम्मेदारों की बेचैनी बढ़ गई है। बताया गया कि ग्राम पंचायत भंवरा में अंगद के पैर की तरह( करीब 3 से 4 साल) जमे पंचायत सचिव विनोद वर्मा के भ्रष्टाचार,उसकी दबंगाई,मनमानी,की ये तो एक बानगी भर है। जल्द ही इस पंचायत में हुए भ्रष्टाचार की एक ओर क़िस्त की तैयारी में सूत्र जुटे है..!


देवास लोकसभा के ईमानदार लोकप्रिय सांसद श्री महेंद्रसिंह सोलंकी ने अपनी सांसद निधि से जो राशि दी वो राशि उस प्रधानमंत्री की है जिसने लोकसभा की सीढ़ी चढ़ने के बाद स्पष्ट कर दिया था की “ना खाऊंगा-ना खाने दूंगा” ये मामला उस ही राशि का है तो कार्यवाही तो ठोस बनती है.!

क्या इस पंचायत की खुली इस पोल को कलेक्टर एवं जिला पंचायत के सीईओ संज्ञान में ले कर कोई ठोस कार्यवाही पंचायत के दबंग सचिव विनोद वर्मा पर करेंगे एवं उनके कार्यकाल में जो कार्य हुए उसकी भी जांच करायेंगे.! इंतजार है निर्णय ओर कार्यवाही का। जनपद द्वारा पत्र जारी किया जाना इस खबर को पुष्ट करता है।

You missed

error: Content is protected !!