Spread the love

सीहोर । माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित की जाने वाली बोर्ड परीक्षाओं में छात्र-छात्राओं के परीक्षा परिणामों में सुधार के लिए कलेक्टर श्री प्रवीण सिंह द्वारा लगातार विस्तृत दिशा-निर्देश दिये जा रहें है और सघन एवं सतत मॉनिटरिंग के निर्देश भी दिए गए है। उल्लेखनीय है कि हाईस्कूल का परीक्षा वर्ष 2022-23 में राज्य में द्वितीय स्थान पर तथा हॉयर सेकेण्ड्री में राज्य में आठवें स्थान पर रहा था। हाईस्कूल एवं हॉयर सेकेण्ड्री स्कूलों के परीक्षा परिणाम में सुधार के लिए जिले के समस्त शासकीय हाई स्कूल एवं हॉयर सेकेण्ड्री विद्यालयों के प्राचार्यों की समीक्षा बैठक शासकीय आवासीय खेलकूद संस्था में आयोजित की गई। बैठक में जिले का परीक्षा परिणाम मध्यप्रदेश में प्रथम स्थान पर लाने के लिए विभिन्न बिन्दुओं पर विस्तृत चर्चा की गई।

बैठक में सहायक कलेक्टर श्री अर्पित गुप्ता एवं जिला शिक्षा अधिकारी संजय सिंह तोमर ने जिले के समस्त प्राचार्यों को छात्र एवं छात्राओं को शत-प्रतिशत परीक्षा परिणाम देने के लिए अतिरिक्त कक्षा संचालन तथा रेमेडियल कक्षाओं के संचालन पर विशेष जोर देते हुए डी एवं ई ग्रेड के विद्यार्थियों पर विस्तृत शैक्षणिक कार्य योजना बनाकर ध्यान देने के निर्देश दिए। बैठक में अतिरिक्त कक्षा का संचालन प्रातः 09 बजे से किया जाना निर्धारित कर सभी छात्र छात्राओं पर विशेष ध्यान देने की बात कही तथा अर्द्धवार्षिक परीक्षा की तैयारी की समीक्षा की गई।

बैठक में सहायक कलेक्टर श्री अर्पित गुप्ता ने कहा कि छात्रों में विशेष प्रकार के मॉडल पेपर के माध्यम से परीक्षा पेपर के लिए रूचि विकसित करते हुए सभी छात्र एवं छात्राओं को पिछले वर्ष के परीक्षा पेपरों में पूछे गये प्रश्नों को हल करवाया जाए। कम परीक्षा परिणाम वाली शालाओं को उसी संकुल की शत प्रतिशत परीक्षा परिणाम वाली शालाओं से शेयरिंग के आधार पर शिक्षण कार्य कराया जाए। रेमेडियल मॉडयूल का वितरण कर कक्षाओं का संचालन तथा प्रतिदिन संभाग स्तर से दिये जाने वाले 2 प्रश्नों को विद्यार्थियों को हल कराए जाए। इस दौरान जिला शिक्षा अधिकारी श्री तोमर ने त्रैमासिक परीक्षा परिणाम की समीक्षा कर सभी प्राचार्यों को अपने विद्यालय की कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिये एवं प्रतिदिन छात्र-छात्रा का दैनिक प्रगति प्रतिवेदन संधारित करने के लिए कहा।

You missed

error: Content is protected !!