Spread the love

आष्टा । 17 नवंबर को आष्टा थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम गवाखेड़ा में किसानों को वितरण हेतु आई यूरिया खाद को लेकर हुए विवाद एवं लगे आरोपों के बाद एसडीएम आष्टा तक पहुंची शिकायतों पर से एसडीएम के निर्देश पर नायब तहसीलदार एवं वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी तथा सहकारिता विभाग के प्रमुख अधिकारियों ने सोसायटी पहुंचकर सभी दस्तावेजों,थम्ब मशीन,परमिट,रजिस्टर सहित अन्य दस्तावेजो आदि की जांच की ।

जांच में हुआ सिध्द हुई है यूरिया की हेराफेरी

जिन किसानों को खाद के परमिट काटे गए थे उन्हें तथा सर्वर डाउन होने के कारण बिना परमिट के खाद दी गई थी तथा उस को रजिस्टर में एंट्री की गई थी उन सब की जांच की गई। किसानों के बयान दर्ज किये, उनके पास कितनी खेती है,उन्हें कितनी खाद मिली आदि की गहराई से जांच उपरांत पाया गया कि प्राथमिक कृषि साख सहकारी सेवा समिति गवाखेड़ा के जिम्मेदारों द्वारा जो खाद किसानों के लिए आई थी उसकी उन्होंने हेराफेरी कर उसे अन्यत्र बेचा है।

आष्टा पुलिस ने दो लोगो पर किया मामला दर्ज

जांच में दोषी पाए जाने पर आज वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी बहादुर सिंह मेवाडा की रिपोर्ट पर आष्टा पुलिस ने सेवा सहकारी समिति गवाखेड़ा के अजब सिंह पिता गप्पू सिंह ठाकुर एवं सोभालसिंह पिता देवीसिंह के खिलाफ उर्वरक नियंत्रण अधिनियम 1985 की धारा 4,5,9 एवं आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 3/7 के तहत मामला दर्ज किया गया। आज लिखाई रिपोर्ट में आखिर ये संख्या क्यो नही लिखाई गई कि कितनी यूरिया खाद की बोरी की हेराफेरी हुई है,जो जांच में सिध्द पाया गया है।

You missed

error: Content is protected !!