Spread the love

आष्टा। भीषण गर्मी के चलते लगातार बिजली का लोड बढ़ने के बाद भी मीटर रीडिंग में कम यूनिट बनने से चिंतित मध्य प्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी ने आष्टा संभाग के अंतर्गत आज आष्टा नगर में गठित 5 विजलेंश टीमो ने बिधुत कनेक्शनों की जांच की।

आज विजिलेंस टीम द्वारा नगर कर विभिन्न क्षेत्रों में विद्युत मीटरों की जांच की गई। जांच में लगभग 27 प्रकरण विद्युत चोरी के बनाए गए। इन सभी को लगभग ₹4 लाख की राशि के बिल भी थमाए गए।

मध्य प्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के सह प्रबंधक दिनेश कुमार कटारे ने जानकारी देते हुए बताया की नगर के नागरिकों से मांग की है कि वे विद्युत चोरी ना करें। आज आष्टा संभाग अंतर्गत आष्टा नगर में विद्युत मंडल के डीई इंद्रपाल नरगेस,डीजीएम पंकज सिंह सीहोर,जेई योगेश साहू,

जेई मनोज यादव,जेई जीएल सोनी के नेतृत्व में जांच दल गठित किये थे। टीमो ने विद्युत मीटरों की जांच की एवं चोरी पकड़ने के लिए आज विजिलेंस की उक्त टीम ने नगर के विभिन्न वार्डो में घरों के बहार लगे मीटरों की चेकिंग की।

जांच टीमों ने लगभग 27 स्थानों पर विद्युत मीटर में छेड़छाड़ करना पाया गया तथा छेड़छाड़ के माध्यम से विद्युत चोरी(मीटर टेम्पर्ड) करते हुए पाए गए। इन सब के खिलाफ प्रकरण बनाकर विद्युत मंडल ने इन्हें ₹4 लाख के विद्युत बिल थमा दिये।


मंडल के सहायक प्रबंधक दिनेश कुमार कटारे ने बिधुत उपभोक्ताओं से अपील की है की वे बिधुत चोरी ना करे,अगर चोरी करते पकड़े गये तो कानूनी कार्यवाही की जायेगी। उपभोक्ताओं से समय पर बिधुत बिल जमा करने की भी अपील की गई है।

You missed

error: Content is protected !!