Spread the love
सीहोर। वर्तमान समय में आज जब सब कुछ बदल रहा है तो यह जरूरी है कि महिलाएं भी सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक रूप से आगे बढ़ें। महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में भारतीय जनता पार्टी के संगठन और केंद्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व वाली सरकार ने कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं और कई ऐतिहासिक फैसले लिए हैं। इसी दिशा में महिला मोर्चा संगठन ने तय किया है कि अगले 3 महीनों में हम मोर्चा के एक लाख कार्यकर्ताओं का प्रशिक्षण करेगा। 
प्रशिक्षण प्राप्त करके ये कार्यकर्ता समाज के बीच जाकर सरकार की योजनाओं और पार्टी की नीतियों को जन-जन तक पहुंचाने का काम करेंगी। यह बात भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती वानती श्रीनिवासन ने सीहोर में शुक्रवार से प्रारंभ हुए महिला मोर्चा के तीन दिवसीय राष्ट्रीय प्रशिक्षण वर्ग में अध्यक्षीय आंसदी से कही। 
प्रशिक्षण वर्ग के उद्घाटन सत्र मे मुख्य अतिथि के रूप में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णु दत्त शर्मा, पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री एवं महिला मोर्चा के राष्ट्रीय प्रभारी श्री दुष्यंत कुमार गौतम, महिला मोर्चा की राष्ट्रीय महामंत्री श्रीमती सुखप्रीत कौर, पार्टी की प्रदेश महामंत्री सुश्री कविता पाटीदार, महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती माया नारोलिया, प्रदेश मीडिया प्रभारी श्री लोकेन्द्र पाराशर, सीहोर जिलाध्यक्ष श्री रवि मालवीय, भोपाल जिलाध्यक्ष श्री सुमित पचौरी, मोर्चा के प्रदेश महामंत्री श्रीमती अश्विनी परांजपे, श्रीमती माया पटेल मंचासीन अतिथियों के रूप में उपस्थित थे।  

महिला सशक्तिकरण की योजनाओं को समाज के बीच ले जाना हमारा कर्तव्य”
प्रशिक्षण वर्ग को संबोधित करते हुए श्रीमती निवासन ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी अन्य राजनीतिक दलों से बहुत अलग राजनीतिक दल है। भारतीय जनता पार्टी का हमेशा से ही प्रयास रहा है कि महिलाओं को कैसे सशक्त और सक्षम बनाया जाए। हमारा उद्देश्य है कि प्रशिक्षण के माध्यम से महिला मोर्चा कार्यकर्ता भारत का सशक्त नेतृत्व कर सके। समाज में महिलाओं की अधिक से अधिक भागीदारी बढ़े इसके लिए भी भारतीय जनता पार्टी लगातार प्रयास करती रहती है।

उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण हमारी कार्य पद्धति का हिस्सा है। प्रशिक्षण के कारण ही हम अन्य राजनीतिक दलों से अलग दिखाई देते हैं। प्रशिक्षण ही हमें नेतृत्व करने की भूमिका में लाते हैं। उन्होंने कहा कि आज देश में देखेंगे तो प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व और उनकी नीतियों के कारण समाज और सरकार में महिलाओं की भागीदारी बढ़ रही है।


केंद्र सरकार के बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के माध्यम से महिला सशक्तिकरण के परिणाम भी देखने को मिल रहे हैं। आज तक के राजनीतिक इतिहास में केंद्र सरकार में इतनी महिला मंत्री नहीं रहीं, जितनी कि आज प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की सरकार में हैं। वित्त विभाग भी पहली बार एक महिला श्रीमती निर्मला सीतारमण जी को दिया गया है। उन्होंने कहा कि यह हमारा कर्तव्य है कि हम अपनी शक्ति को बढ़ाकर महिलाओं के हितों में संचालित योजनाओं को समाज के बीच ले जाएं।


“परिवार भाव ही हमारी सबसे बड़ी ताकत”
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि हमारी विशेषता है कि हम एक परिवार भाव से काम करते हैं। यही हमारी सबसे बड़ी ताकत है। श्रद्धेय राजमाता सिंधिया जी, स्वर्गीय सुषमा स्वराज जी, पदमश्री श्रीमती सुमित्रा महाजन जी जैसी अनेक महिला प्रतिभाओं ने न केवल मध्यप्रदेश में बल्कि देश में भारतीय जनता पार्टी के संगठन को सींचने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि सर्वस्पर्शी और सर्वव्यापी हमारा भाव रहा है और इसलिए हम प्रयास करते हैं कि हमारे मोर्चा और प्रकोष्ठों के गठन में महिलाओं की पर्याप्त भागीदारी सुनिश्चित हो।


श्री शर्मा ने कहा कि हमें इस बात का गर्व होता है कि जब दुनिया में सर्वाधिक लोकप्रिय नेता का सर्वे किया जाता है तो उसमें हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का नाम सबसे ऊपर होता है, हमें इस बात का भी गर्व है कि हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जेपी नड्डा जी दुनिया के सबसे बड़े राजनीतिक दल के अध्यक्ष हैं। हम गर्व करते हैं लेकिन घमण्ड नहीं करते। भारतीय जनता पार्टी पंडित दीनदयाल जी के अंत्योदय के उच्च विचार को आत्मसात कर दुनिया का सबसे बड़ा राजनीतिक दल बना है।

गरीब कल्याण की अनेक योजनाओं में भी वही अंत्योदय का विचार है, जो हमारे प्रेरणा पुरुष पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी ने दिया था। आज प्रधानमंत्री आवास, उज्जवला योजना, आयुष्मान भारत जैसी महत्वाकांक्षी योजनाएं गरीब कल्याण की दिशा में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं।
महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में हमारी सरकारें महत्वपूर्ण काम कर रही हैं।

बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ, लाडली लक्ष्मी जैसी योजनाओं के माध्यम से बहुत बड़ा सामाजिक परिवर्तन आया है। आज 42 लाख लाडली लक्ष्मी मध्यप्रदेश में हैं , आज मध्य प्रदेश में बेटी और बेटों का अंतर जो पहले 912 था अब 958 हो गया है। उन्होंने कहा कि मुझे पूर्ण विश्वास है कि आप महिला मोर्चा कार्यकर्ता इस वर्ग से प्रशिक्षण लेकर पार्टी को सुदृढ़ बनाने में और संगठन के कार्य विस्तार में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।


इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा महापुरुषों के चित्रों पर माल्यापर्ण एवं दीप प्रज्वलित कर किया गया। स्वागत उदबोधन प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती माया नारोलिया ने दिया। कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रीय महामंत्री श्रीमती दीप्ती रावत ने और आभार प्रदेश महामंत्री श्रीमती अश्विनी परांजपे ने माना।

You missed

error: Content is protected !!